Home Study Materials Bhartiy Sanvidhan Ki Rachna | Creation Of The Indian Constitution

Bhartiy Sanvidhan Ki Rachna | Creation Of The Indian Constitution

0

Indian Constitution से प्रत्येक प्रतियोगी परीक्षाओं में अधिक-से अधिक प्रश्न पूछे जाते है | आज के लेख ” Bhartiy Sanvidhan Ki Rachna | Creation Of The Indian Constitution ” के माध्यम से भारतीय संविधान की रचना, विकास और विशेषता के बारे में बताया गया है |

Bhartiy Sanvidhan Ki Rachna

Bhartiy Sanvidhan Ki Rachna

  • भारत ने संविधान को 26 नवम्बर, 1949 ई. को अंगीकार किया |
  • सम्पूर्ण संविधान 26 जनवरी, 1950 ई. को लागु किया गया |
  • भारतीय संविधान का पिता डॉ. बी. आर. अम्बेडकर को कहा जाता है |
  • भारत को 26 जनवरी, 1950 ई. को गणराज्य घोषित किया गया |
  • जब संविधान लागु हुआ तब उसमे 395 अनुच्छेद तथा 8 अनुसूचियाँ थी |
  • पहली बार संविधान सभा की अवधारणा, स्वराज पार्टी ने 1935 ई. में प्रस्तावित की थी |
  • मुस्लिम लीग के हटने के बाद संविधान सभा की सदस्य संख्या 299 थी |
  • संविधान बनाने के लिए 13 कमेटियाँ गठित की गई थी |
  • संविधान सभा की प्रथम बैठक 9 दिसम्बर, 1949 ई. को हुई थी |

Online Test दें :

दल निर्वाचित सदस्यों की संख्या
कांग्रेस 208
मुस्लिम लीग 73
युनियनिष्ट 1
युनियनिष्ट अनुसूचित 1
कृषक प्रजा 1
अनुसूचित जाति परिसंघ 1
सिख(गैर कांग्रेसी) 1
कम्युनिष्ट 1
स्वतंत्र 8
  • 9 दिसम्बर 1946 ई. को प्रथम बैठक के दौरान संविधान सभा का अस्थाई अध्यक्ष डॉ. सच्चिदानन्द सिन्हा को चुना गया |
  • संविधान सभा का गठन कैबिनेट मिशन योजना के प्रस्तावों के अनुसार किया गया था |
  • 11 दिसम्बर 1946 ई. को गठित संविधान सभा का स्थायी अध्यक्ष डॉ. राजेंद्र प्रसाद को नियुक्त किया गया था |
  • संविधान सभा द्वारा संविधान निर्माण में 2 वर्ष 11 महीने, 18 दिन का समय लगा था |
  • भारतीय संविधान सभा के संवैधानिक सलाहकार पद पर श्री बी. एन. राव को नियुक्त किया गया था |
  • 13 दिसम्बर, 1946 को पं. जवाहरलाल नेहरु के द्वारा उद्देश्य प्रस्ताव प्रस्तुत कर संविधान निर्माण का कार्य प्रारम्भ किया गया |
  • 1947 ई. के अगस्त में गठित प्रारूप समिति (Drafting Committee) का अध्यक्ष डॉ. बी. आर. अम्बेडकर को बनाया गया |
  • संविधान सभा की अंतिम बैठक 24 जनवरी, 1950 ई. को हुई |
  • भारतीय संविधान को लागु करने के लिए 26 जनवरी का दिन इसलिए तय किया गया क्योकि उसी दिन कांग्रेस ने 1930 में आजादी दिवस के रूप में मनाया था |

इसे जरुर पढ़ें :



  • 42वें संविधान संशोधन में 53 अनुच्छेदों एवं 7वीं अनुसूची में संसोधन हुआ |
  • 24 जनवरी,1950 ई. को राष्ट्रिय गीत अपनाया गया |
  • 22 जुलाई, 1947 ई. को राष्ट्रीय ध्वज अपनाया गया |
  • 24 जनवरी, 1950 ई. को राष्ट्रिय गान अपनाया गया |
  • डॉ. राजेंद्र प्रसाद को 24 जनवरी 1950 ई. को भारत के पहले राष्ट्रपति के रूप चुना गया |
  • डॉ. बी. आर. अम्बेडकर ने संविधान सभा में 4 नवम्बर 1948 को संविधान सभा का अंतिम प्रारूप पेश किया |
  • केशवानन्द भारती बनाम केरल राज्य निर्णय के अनुसार प्रस्तवना को संविधान का आधारभूत अंग माना गया है |
इसे भी पढ़ें :




भारतीय संविधान के स्रोत 

  • ब्रिटेन के संविधान से भारतीय संविधान में संसदीय प्रणाली लिया गया है |
  • मौलिक अधिकार को अमेरिका के संविधान से लिया गया है |
  • विधि द्वारा स्थापित प्रक्रिया जापान के संविधान से लिया गया है |
  • सर्वोच्च न्यायालय का गठन एवं शक्तियां अमेरिका के संविधान से लि गई है |
  • उपराष्ट्रपति पद की व्यवस्था अमेरिका के संविधान से लिया गया है |
  • संघात्मक व्यवस्था कनाडा से लि गई है |
  • राज्य के नीति निर्देशक तत्व आयरलैंड के संविधान से लिए गए है |
  • आपात उपबंध जर्मनी से लिया गया है |
  • मौलिक कर्तव्य का प्रावधान पूर्व सोवियत संघ के संविधान से लिया गया है |
  • संसद तथा विधानमंडल की प्रक्रिया यूनाइटेड किंगडम (ब्रिटेन) के संविधान से लिया गया है |
  • गणतांत्रिक व्यवस्था फ्रांस के संविधान से लिया गया है |
  • समवर्ती सूचि का प्रावधान आस्ट्रेलिया के संविधान से लिया गया है |
Must Read It :



भारतीय संविधान की विशेषता :

  • भारतीय संविधान विश्व में सबसे लम्बा लिखित संविधान है |
  • मूल संविधान में 22 भाग, 395 अनुच्छेद  और 8 अनुसूचियाँ थी |
  • वर्तमान संविधान में 450 अनुच्छेद, 22 भाग और 12 अनुसूचियाँ है |
  • 42वें संविधान संशोधन अधिनियम 1976 को लघु (mini) संविधान भी कहा जाता है |
  • भारतीय संविधान को संवैधानिक सभा द्वारा अपनाया गया था |
  • भारत का संविधान न तो लचीला है और न ही कठोर बल्कि दोनों का मिला जुला रूप है |
  • भारत का संविधान भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न एवं लोकतंत्रात्मक गणराज्य घोषित करता है |
  • इसमें सभी भारतीय नागरिकों मौलिक अधिकार प्राप्त है |

जरुर पढ़ें :

 

प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं विद्यार्थी हमारे फेसबुक पेज को अवश्य लाइक करें ताकि आप सभी को आपके Facebook पर जानकारी उपलब्ध होती रहे है|
प्रतिदिन नए-नए GK से संबंधित प्रश्न उत्तर सॉल्व करने के लिए हमारे Group को भी Join करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.