History

Swami Vivekananda | Ramakrishna Mission

Ramakrishna Mission in Hindi 

रामकृष्ण परमहंस कोलकाता की छोटी सी भर्ती में एक मंदिर के पुजारी थे | उनकी भारतीय विचार एवं संस्कृति में पूर्ण आस्था थी | परंतु वह सभी धर्म को सत्य मानते थे | उनके अनुसार राम अल्लाह ईश्वर ईश्वर के भिन्न-भिन्न नाम हैं | वह मूर्ति पूजा में विश्वास रखते थे तथा उसे शाश्वत एवं सर्वशक्तिमान ईश्वर को प्राप्त करने का साधन मानते थे | रामकृष्ण की शिक्षाओं की व्याख्या को साकार करने का श्रेय स्वामी विवेकानंद जी को जाता है | Ramakrishna Mission की स्थापना Vivekananda द्वारा सन 1897 ई में किया गया |

Swami Vivekananda :-

स्वामी विवेकानंद(1861-1902) का बचपन का नाम नरेंद्रनाथ दत्त था | स्वामी विवेकानंद नव हिंदूवाद धर्म के प्रचारक के रुप में उभरे | स्वामी जी ने 1893 ई. में शिकागो में आयोजित विश्व धर्म सम्मेलन में भाग लिया और अपनी विद्वता से लोगो को बहुत ही प्रभावित किया | स्वामी विवेकानंद के अनुसार भौतिकवाद एवं अध्यात्मवाद में स्वास्थ्य संतुलन स्थापित होना चाहिए |

  • 4 वर्ष प्रवास के बाद विवेकानंद जी भारत लौट आए तथा कोलकाता के पास वेलूर तथा अल्मोड़ा के पास मायावती में दो प्रसिद्ध केंद्रों की स्थापना की | स्वामी विवेकानंद ने हिंदू धर्म में व्याप्त संकीर्णताओ की आलोचना की | उनके अनुसार हिंदू धर्म अब केवल खान-पान तक सीमित हो गया | वह धनी व्यक्ति द्वारा गरीबों के शोषण एवं धर्म की कुविकसित्ता पर अधिक अप्रसन्न थे |
  • विवेकानंद के अनुसार “भूखे व्यक्ति से धर्म की बात करना ईश्वर तथा मनावता का अपमान है” | जब तक लाखों लोग भूख तथा अज्ञानता का जीवन व्यतीत करते हैं | मैं उन लोगों को देशद्रोही मानता हूं जिन्होंने विद्या तथा ज्ञान को उनके ब्यय पर प्राप्त किया और उनका तनिक भी ध्यान नहीं दिया|
  • विवेकानंद के अनुसार ईश्वर की पूजा मानवता की सेवा द्वारा ही की जा सकती है इसलिए उन्होंने हिंदू धर्म को एक नवीन सामाजिक उद्देश्य प्रदान किया |

एक बार सुभाष चंद्र बोस ने कहा- जहां तक बंगाल का संबंध है “हम विवेकानंद को आधुनिक राष्ट्रीय आंदोलन का आध्यात्मिक पिता” कह सकते हैं |
वैलेंटाइन शिरोल के शब्दों में- स्वामी विवेकानंद प्रथम हिंदू थे, जिनके व्यक्तित्व ने भारत को प्राचीन सभ्यता और राष्ट्र होने के उसके नवजात हित के लिए विदेश में निर्णायक स्वीकृति प्राप्त की |

स्वामी विवेकानंद से संबंधित प्रश्न

  1. 19वीं शताब्दी के उत्तरार्ध में नव हिंदूवाद के सर्वश्रेष्ठ प्रतिनिधि थी- स्वामी विवेकानंद
  2. वर्ष 1893 में शिकागो में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय धर्मों की संसद से किसका नाम जुड़ा है- स्वामी विवेकानंद
  3. किस वर्ष स्वामी विवेकानंद ने ‘विश्व धर्म संसद’ में भाग लिया- 1893
  4. रामकृष्ण मिशन की स्थापना किसने की- स्वामी विवेकानंद
  5. रामकृष्ण मिशन किसके द्वारा प्रारंभ किया गया- स्वामी विवेकानंद
  6. स्वामी विवेकानंद ने रामकृष्ण मिशन की स्थापना कब की- 1897
  7. शारदामणि कौन थी- रामकृष्ण परमहंस की पत्नी
  8. भारत का मार्टिन लूथर कहलाता है- स्वामी दयानंद सरस्वती
  9. सत्यार्थ प्रकाश की रचना की थी- स्वामी दयानंद सरस्वती द्वारा
  10. वेदों की ओर चलो किसने कहा था- स्वामी दयानंद सरस्वती

Swami Vivekananda PDF

About the author

Sarkari Job Help

2 Comments

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.