Swami Vivekananda | Ramakrishna Mission

2

Ramakrishna Mission in Hindi 

रामकृष्ण परमहंस कोलकाता की छोटी सी भर्ती में एक मंदिर के पुजारी थे | उनकी भारतीय विचार एवं संस्कृति में पूर्ण आस्था थी | परंतु वह सभी धर्म को सत्य मानते थे | उनके अनुसार राम अल्लाह ईश्वर ईश्वर के भिन्न-भिन्न नाम हैं | वह मूर्ति पूजा में विश्वास रखते थे तथा उसे शाश्वत एवं सर्वशक्तिमान ईश्वर को प्राप्त करने का साधन मानते थे | रामकृष्ण की शिक्षाओं की व्याख्या को साकार करने का श्रेय स्वामी विवेकानंद जी को जाता है | Ramakrishna Mission की स्थापना Vivekananda द्वारा सन 1897 ई में किया गया |

Swami Vivekananda :-

स्वामी विवेकानंद(1861-1902) का बचपन का नाम नरेंद्रनाथ दत्त था | स्वामी विवेकानंद नव हिंदूवाद धर्म के प्रचारक के रुप में उभरे | स्वामी जी ने 1893 ई. में शिकागो में आयोजित विश्व धर्म सम्मेलन में भाग लिया और अपनी विद्वता से लोगो को बहुत ही प्रभावित किया | स्वामी विवेकानंद के अनुसार भौतिकवाद एवं अध्यात्मवाद में स्वास्थ्य संतुलन स्थापित होना चाहिए |

  • 4 वर्ष प्रवास के बाद विवेकानंद जी भारत लौट आए तथा कोलकाता के पास वेलूर तथा अल्मोड़ा के पास मायावती में दो प्रसिद्ध केंद्रों की स्थापना की | स्वामी विवेकानंद ने हिंदू धर्म में व्याप्त संकीर्णताओ की आलोचना की | उनके अनुसार हिंदू धर्म अब केवल खान-पान तक सीमित हो गया | वह धनी व्यक्ति द्वारा गरीबों के शोषण एवं धर्म की कुविकसित्ता पर अधिक अप्रसन्न थे |
  • विवेकानंद के अनुसार “भूखे व्यक्ति से धर्म की बात करना ईश्वर तथा मनावता का अपमान है” | जब तक लाखों लोग भूख तथा अज्ञानता का जीवन व्यतीत करते हैं | मैं उन लोगों को देशद्रोही मानता हूं जिन्होंने विद्या तथा ज्ञान को उनके ब्यय पर प्राप्त किया और उनका तनिक भी ध्यान नहीं दिया|
  • विवेकानंद के अनुसार ईश्वर की पूजा मानवता की सेवा द्वारा ही की जा सकती है इसलिए उन्होंने हिंदू धर्म को एक नवीन सामाजिक उद्देश्य प्रदान किया |

एक बार सुभाष चंद्र बोस ने कहा- जहां तक बंगाल का संबंध है “हम विवेकानंद को आधुनिक राष्ट्रीय आंदोलन का आध्यात्मिक पिता” कह सकते हैं |
वैलेंटाइन शिरोल के शब्दों में- स्वामी विवेकानंद प्रथम हिंदू थे, जिनके व्यक्तित्व ने भारत को प्राचीन सभ्यता और राष्ट्र होने के उसके नवजात हित के लिए विदेश में निर्णायक स्वीकृति प्राप्त की |

स्वामी विवेकानंद से संबंधित प्रश्न

  1. 19वीं शताब्दी के उत्तरार्ध में नव हिंदूवाद के सर्वश्रेष्ठ प्रतिनिधि थी- स्वामी विवेकानंद
  2. वर्ष 1893 में शिकागो में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय धर्मों की संसद से किसका नाम जुड़ा है- स्वामी विवेकानंद
  3. किस वर्ष स्वामी विवेकानंद ने ‘विश्व धर्म संसद’ में भाग लिया- 1893
  4. रामकृष्ण मिशन की स्थापना किसने की- स्वामी विवेकानंद
  5. रामकृष्ण मिशन किसके द्वारा प्रारंभ किया गया- स्वामी विवेकानंद
  6. स्वामी विवेकानंद ने रामकृष्ण मिशन की स्थापना कब की- 1897
  7. शारदामणि कौन थी- रामकृष्ण परमहंस की पत्नी
  8. भारत का मार्टिन लूथर कहलाता है- स्वामी दयानंद सरस्वती
  9. सत्यार्थ प्रकाश की रचना की थी- स्वामी दयानंद सरस्वती द्वारा
  10. वेदों की ओर चलो किसने कहा था- स्वामी दयानंद सरस्वती

Swami Vivekananda PDF

2 Comments
  1. Vivek says

    Good info sir….tnx

    1. [email protected] says

      Welcome Vivek..
      can you need more Information, then daily visit Website.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

sex videos eurobeauty fucked hard on the floor.
sex xxx
http://www.anybunnyvideos.com
error: कृपया उचित स्थान पर Click करे !!